_____________________________________________________जानिए – – –

मुजफ्फरनगर जनपद (उ.प्र.-भारत) के १००कि.मी.के दायरे में गंगा-यमुना की धरती पर स्थित पौराणिक महाभारत क्षेत्र के एक और धार्मिक स्थान के बारे में – – –

_____________________________________________

देहरादून नगर के चारों ओर चार सिद्ध पुरुषों के तपस्थल हैं। भगवान दत्तात्रेय के चार प्रमुख शिष्यों ने हिमालय की सघन वनाच्छादित सुंदर भूमि पर कठिन तपस्या करके मोक्ष प्राप्त किया था। उन चारों सिद्धपुरुषों की तपोभूमियां वर्तमान में देहरादून नगर के चारों ओर स्थित हैं। श्रद्धालुओं की मान्यता है कि इन सिद्धपीठ में आज भी शक्ति जीवंत है। जो भी श्रद्धालु सच्चे मन से यहां मनौती मांगता है, सिद्धपीठ के प्रताप से उनकी मनोकामना अवश्य पूरी होती है। इसी लिए इन सिद्धपीठों पर दर्शनार्थियों का तांता लगा रहता है। किंतु इन सिद्ध पीठों में भी लक्ष्मण सिद्ध पीठ की मान्यता सबसे अधिक है। लक्ष्मण सिद्ध पीठ पर स्थानीय श्रद्धालु ही नहीं बल्कि दूर-दूर से भी श्रद्धालु आकर मनोतियां मानते हैं। हर रविवार के दिन इस सिद्धपीठ पर मेला लगता है।

दोनों ओर काफी घने जंगल और ऊंचे-ऊंचे पेड़ों के बीच में से गुजरती सड़क से होकर श्रद्धालु यहां पहुंचते हैं। एक लंबे चौड़े प्रांगण में बना एक छोटा सा लेकिन अत्यधिक मान्यता प्राप्त लक्ष्मण सिद्ध मंदिर। वास्तव में यह मंदिर लक्ष्मण सिद्ध जी का समाधि स्थल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *