_____________________________________
मुजफ्फरनगर जनपद (उ.प्र.भारत) के १०० किमी के दायरे में गंगा-यमुना की धरती पर स्थित पौराणिक महाभारत क्षेत्र
_____________________________________

*** मुजफ्फरनगर जनपद
__________________

** प्राचीन जुडेश्वर महादेव मंदिर –

(ककराला गांव, भोपा – मोरना क्षेत्र)

प्राचीन जुड़ेश्वर महादेव मंदिर पर शिवरात्रि के अवसर पर जलाभिषेक करने के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जुटती है। श्रावण के महीने में बड़ी संख्या में शिवभक्त हरिद्वार से पैदल गंगाजल लाकर यहां स्थित जुड़ेश्वर महादेव शिवलिंग का जलाभिषेक करते हैं।

** प्राचीन महादेव मंदिर – (गांव भंडूरा)

बताया जाता है कि इस मंदिर में स्थापित शिवजी की पिंडी धरती से स्वतः उत्पन्न हुई थी।

सावन के महीने में प्राचीन जुड़ेश्वर महादेव मंदिर व गांव भंडूरा के प्राचीन महादेव मंदिर में हजारों शिवभक्त हरिद्वार-शुकतीर्थ(शुक्रताल) से कांवड़ में गंगाजल लाकर शिव का जलाभिषेक करते हैं। इस अवसर पर यहां दो
दिवसीय मेले का भी आयोजन किया जाता है।

________

** पंचमुखी शिवलिंग मंदिर –

(बेहडा सादात गांव -मोरना क्षेत्र)

बेहरा सादात गांव के शिव मंदिर में पंचमुखी शिवलिंग स्थापित है।

*** मुजफ्फरनगर जनपद के कस्बा भोपा-मोरना क्षेत्र के अंतर्गत शिवमंदिर भोपा प्राचीन शिवमंदिर मोरना, प्राचीन श्री जुडेश्वर महादेव मंदिर ककराला, प्राचीन नीलकंठ महादेव मंदिर व प्राचीन शिवगंगा मंदिर शुकतीर्थ (शुकताल) सहित क्षेत्र भर के छछरौली, वजीराबाद, इलाहबास, चौरावाला, भेडाहेडी बेलडा, बेहड़ा थ्रू, नीलकंठ महादेव मंदिर फिरोजपुर आदि ग्रामीण अंचल के गांवों में महाशिवरात्रि के अवसर पर भगवान आशुतोष के मंदिरों एवं प्राचीन शिवालयों में श्रद्धालु भक्ति भाव से जयघोष के साथ भगवान आशुतोष शिव का जलाभिषेक करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *