__________________________________________________मुजफ्फरनगर जनपद(उ.प्र.-भारत) के १०० किमी के दायरे में गंगा-यमुना की धरती पर स्थित पौराणिक महाभारत क्षेत्र
____________________________________

*** शामली जनपद
______________

** गढ़ी पुख़्ता गांव –

इस गांव की ऐतिहासिक जामा मस्जिद के प्रांगण में मुस्लिमों के पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब के पैर का चिन्ह एक पत्थर पर मौजूद है।

कहते हैं कि कस्बे के एक फकीर को सैकड़ों वर्ष पूर्व पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब ख्वाब में दिखाई पड़े और उन्होंने ख्वाब में ही उस फकीर को बताया कि मेरे कदम के निशान का एक पत्थर अमुक स्थान पर पड़ा हुआ है। उसको उठाकर गढ़ी पुख़्ता ले आओ। तब से ही उक्त कदम शरीफ के निशान वाला पत्थर सैकड़ों वर्षों से यहां की जामा मस्जिद में मौजूद है और बड़ी एतियात से ऐहतराम के साथ रखा हुआ है।

बताते हैं कि पूरे भारत में पैगंबर साहब के कदम शरीफ का चिन्ह दिल्ली की ऐतिहासिक जामा मस्जिद और यहां गढ़ी पुख़्ता की इस मस्जिद में मौजूद है।

इन कदम शरीफ को छूकर देखने के लिए दूर-दूर से लोग यहां आते रहते हैं। मस्जिद में कदम शरीफ देखने वालों का तांता लगा रहता है। श्रद्धालुओं के द्वारा दोनों हाथों से छूकर सीने से लगाने के कारण उक्त पत्थर काफी घिस चुका है लेकिन कदम के चिन्ह आज भी ज्यों के त्यों ही दिखाई पड़ते हैं।

_________________________________

*** बिजनौर जनपद

________________

* मंडावर कस्बा –

सन 1227 में सुल्तान इल्तुतमिश मंडावर आया था और यहां उसने एक विशाल मस्जिद बनवाई थी। यह मस्जिद पुरातत्व महत्व का एक नायाब नमूना है। इसमें इमाम साहब के खड़े होने के स्थान और छत में कुरान शरीफ की पाक आयतें लिखी हैं। एक लंबा समय बीत जाने के बावजूद आज भी इसकी लिखावट के रंगों की चमक बरकरार है।

_____________________________________

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *