_________________________________________मुजफ्फरनगर जनपद (उ.प्र.भारत) के १०० किमी के दायरे में गंगा-यमुना की धरती पर स्थित पौराणिक महाभारत क्षेत्र
_____________________________________

कपूरगढ़ गांव –

मुजफ्फरनगर जनपद में शाहपुर कस्बे के निकट कपूरगढ़ गांव स्थित है।

*** इस स्थान को ऋषि परशुराम की तपोभूमि व आश्रम होना बताया जाता है।

*****

*** प्राचीन सिद्धपीठ संत शिरोमणि श्री नामदेव मंदिर –

देश के प्रसिद्ध नामदेव मंदिरों में से एक श्री नामदेव मंदिर-कपूरगढ़ है। इस प्राचीन सिद्धपीठ में कई सौ वर्षों से उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, महाराष्ट्र, पंजाब आदि से हजारों की संख्या में नामदेव सजातीयबंधु यहां आकर अपने इष्ट देव के दर्शन करके कृतार्थ होते रहे हैं।

बताते हैं कि इस सिद्धपीठ में जो भी व्यक्ति सच्चे मन से मनौती मांगता है उसकी सभी इच्छाएं अवश्य पूरी होती हैं।

श्री नामदेव जी महाराज के वार्षिकोत्सव के अवसर पर कपूरगढ़ गांव में दर्शनों के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ता है।

प्रतिवर्ष राम नवमी के अवसर पर कपूरगढ़ स्थित मंदिर में पूजा अर्चना का सिलसिला शुरू हो जाता है जो कई दिनों तक जारी रहता है।

नामदेव समाज के हजारों लोग इस अवसर पर इकट्ठा होकर सजातीय बंधुओं के बीच अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हैं।

श्री नामदेव मंदिर में प्रातः काल यज्ञ व पूजन का आयोजन होता है। हजारों सजातीय बंधुओं संत नामदेव महाराज की दिव्य प्रतिमा के दर्शन कर प्रसाद चढ़ाते हैं।
विशाल भंडारे का आयोजन भी अवसर पर किया जाता है।

तत्पश्चात सांस्कृतिक कार्यक्रमों का सिलसिला प्रारंभ होता है। इस अवसर पर सामाजिक व्यक्तियों को उनके द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में किए गए उत्कृष्ट कार्यों के प्रति सम्मानित भी किया जाता है।

नामदेव समाज के बंधुओं ने अपनी मेहनत ईमानदारी व लगन के बूते पर अपनी अलग पहचान बनाई है। वार्षिक अधिवेशन के अवसर पर आयोजित गोष्ठियों में समाज के लोग विभिन्न विषयों पर विचार-विमर्श करके सुझावों का आदान प्रदान करते हैं।

मंदिर प्रांगण में एक मेले का आयोजन भी किया जाता है जिसमें यहां आए लोग बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते हैं।

_________

*** प्राचीन आनंद कुटी मंदिर –

आनंद कुटी के प्राचीन शिव मंदिर की पौराणिक मान्यता पुरा महादेव मंदिर की तरह ही है। इस मंदिर में प्राचीन शिवलिंग स्थापित है।

मंदिर में भगवान शिव परिवार के अलावा श्री रामदरबार, हनुमान जी राधा कृष्ण देवी दुर्गा भगवान परशुराम आदि देवी-देवताओं की प्रतिमाएं भी स्थापित हैं।

शाहपुर कस्बे के निकटवर्ती गांव कपूरगढ़ स्थित तपोभूमि संत कुटिया में समय-समय पर धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन होता रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *