_________________________________________________मुजफ्फरनगर जनपद के १०० किमी के दायरे में गंगा-यमुना की धरती पर स्थित पौराणिक महाभारत क्षेत्र
____________________________________

अनाज गल्ला एंव गुड –

हापुड़ व्यापारिक नगर है। यह अनाज और गुड़ की बड़ी मंडियों के लिए देशभर में प्रसिद्ध हैं। अनाज व गुड़ के साथ साथ यहां की मंडी में धान, तिलहन सरसों, दलहन का भी कारोबार होता है। इस मंडी में जिंसों के जो भाव उस दिन होते हैं, उनके ऊपर देश की अन्य मंडियों के थोक भाव निर्भर करते हैं।

हापुड़ मंडी का ढ‌ईया गुड़ और बाल्टी का गुड दूर-दूर तक प्रसिद्ध है।

हापुड़ मंडी में 200 से अधिक फर्म गुड़ व अनाज का व्यापार करती हैं। वर्तमान में गढ़ रोड पर एक बड़े क्षेत्रफल में फैली भव्य मंडी में कारोबार होता है।

इससे पहले पक्का बाग इलाके में यहां की मंडी स्थित थी। पुराने समय में व्यापारी अनाज की खत्तियों में अनाज का भंडारण करते थे। हापुड़ में त्रिवेणीगंज रघुवीर गंज किशनगंज कलेक्टर गंज भोलागंज शंकरगंज छोटी मंडी बड़ी मंडी आदि इलाकों में अनाज भंडारण की खत्तियां थी। समय के साथ साथ यह खत्तियां अब समाप्त हो गई हैं।

भारत सरकार द्वारा हापुड़ में अनाज संचयन संस्थान स्थापित है इस संस्थान के कारण हापुड़ अनाज भंडार, प्रशिक्षण व अन्वेषण का केंद्र बन गया है।

आलू उत्पादन –

हापुड़ क्षेत्र आलू उत्पादन के लिए भी प्रसिद्ध है। यहां पर आलू का भंडारण करने के लिए कई बड़े-बड़े कोल्ड स्टोरेज स्थापित है।

हापुड़ के पापड़ –

हापुड़ किसी समय पापड़ के लिए भी जाना जाता था। कुछ दशक पहले तक हापुड़ रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के रुकते ही जोर-शोर से आवाज आने लगती थी। हापुड़ के पापड़ लेकिन अब यह पुरानी बातें हो गई है।

आजादी से पूर्व हापुड़ में पापड़ का उद्योग चरम पर था। किसी समय राष्ट्रीय समाचार पत्रों में यहां पर उत्पादित पापड़ का विज्ञापन देकर प्रचार किया जाता था। विदेशों तक में यहां से पापड़ भेजा जाता था। आज भी यहां पापड़ वाली गली स्थित है। समय के साथ हापुड़ के पापड़ का स्वाद फीका हो गया।

खूबसूरत पैकिंग में उपलब्ध अन्य स्थानों के पापड़ ने यहां के इस कुटीर उद्योग को समाप्त कर दिया है।

सर्राफा कारोबार –

हापुड़ में सर्राफा कारोबार का तेजी से विकास हुआ है। हापुड़ का खिड़की बाजार एरिया अब सर्राफा कारोबार के रूप में जाना जाता है।

* लकड़ी का थोक व्यापार भी यहां होता है गढ़ रोड पर लकड़ी का व्यापार करने वाली कई बड़ी फर्में हैं।

फर्नीचर इंडस्ट्री –

हापुड़ फर्नीचर इंडस्ट्री के लिए भी जाना जाता है। यहां पर अच्छी क्वालिटी के फर्नीचर जिसमें डबल बैड, बैड, सोफा, डाइनिंग टेबल, टेबल, ड्रेसिंग टेबल, कंप्यूटर फर्नीचर आदि कई प्रकार के फर्नीचर बनाए जाते हैं। ऑर्डर देकर भी अपने पसंद के फर्नीचर को बनवाया जा सकता है। आसपास के नगरों के व्यक्ति भी यहां आकर अपनी पसंद का फर्नीचर तैयार करवाते हैं।

* स्टील और पीतल के बर्तन बनाने के लिए भी हापुड़ प्रसिद्ध है।

इसके अलावा हापुड़ खाद्य, टैक्सटाइल, प्रिंटिंग, केमिकल, मैटल, मशीनरी आदि उद्योगों के लिए भी जाना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *